Home WAZIFA

WAZIFA

What is the meaning of wazifa?

Asslamu Alaikum Wa Rahmatullahi Wa Barakatuh, how are you, my brothers and sisters? Hope you all are good.

So many times peoples ask the meaning of Wazifa today I will let you know the meaning and value of wazifa.  If we will translate this Arabic word ‘Wazifa’ into English then its meaning is to employ. But if we talk about the Islamic importance of this term wazifa then it stands for reciting some verses or phrase to get the desired favor or gift from Allah Tabarak Wa ta’ala.

Is wazifa allowed in Islam?

Now the most common question appears in someone’s mind is that is wazifa allowed is Islam or not? Then my answer is yes. While doing any wazifa we only intended to read some particular verses from the holy Quran. You yourself tell me is reading the Quran is a sin? When you decide to do any wazifa you should have full faith in almighty. Remember one thing you should not perform any wazifa with the wrong intention. There is always being a big difference between dua and wazifa.

Rules of reading a Wazifa?

Many times peoples do wazifa but didn’t get desired results. The main reason behind the wazifa failure is the incorrect method of doing “wazifa”. On this page, we will tell you all the important steps of doing a wazifa. We are providing you a video on this topic. On Islamic Dua Helpline you will find a video on every problem.

वज़ीफ़ा क्या होता हैं?

अस्सलामु अलैकुम वा रहमतुलाई वा बरकरतुह, कैसे हैं आप सभी? उम्मीद करता हूँ आप सभी अचे होंगे.

काफी बार हमसे लोग पूछते हैं की ये वज़ीफ़ा क्या होता हैं तो आज हम आपको वज़ीफ़ा का मतलब बताएँगे और इस्लाम मई इसकी अहमियत बताएँगे. वज़ीफ़ा एक अरबी शब्द है जिसका मतलब होता है प्रयोग मई लेना. पर अगर हम इस्लाम मई वज़ीफ़ा शब्द की अहमियत की बात करे तो इसका मतलब है की अल्लाह से दुआ करके कुछ अपनी इच्छा का उपहार मांगना. वज़ीफ़ा का इस्तेमाल हमारे प्यार पैगम्बर भी किया करते थे.

क्या इस्लाम में वज़ीफ़ा करने की इज़ाज़त है?

जब हम वज़ीफ़ा की बात करते है तो किसी भी मुस्लिम भाई या बहिन के दिमाग मई ये बात जरूर आती है की क्या वज़ीफ़ा करने की इज़ाज़त इस्लाम मै दी गयी है? तो इस सवाल का जवाब है हाँ क्यों की जब कोई इंसान कोई वज़ीफ़ा करता है तो वह क़ुरान के कुछ छंद या वाक्यांश पढता है. तो आप कुढ़ ही मुझे बताओ की क्या इस्लाम मै क़ुरान पढ़ना कोई गुनाह है? जब भी आप कोई वज़ीफ़ा करे तो आपका पूरा भरोसा उस सबसे ताक़तवर खुदा पर होना चाहिए. एक और बात हमेशा धयान मै रखे जब भी आप कोई वज़ीफ़ा  करे तो आपका मक़सद नेक और शरीयत के हिसाब से होना चाहिए.

 

Call Now ButtonCALL NOW FOR SOLUTION
WhatsApp WhatsApp us Now